Book Hotel Radhey Radhey Online, Get Instant Confirmation
Check-In Date     Nights     Credit card

About Us

सम्पुर्ण स्वर्गाश्रम नगरी हिमालय पर्वत की श्रंखलाऔ में मणिकूट पर्वत की गोद मे जो उत्तराखंड के चारो धामो का मुख्य प्रवेश द्वार है मोक्षदायिनी माँ गंगा के किनारे विराजमान है ।

होटल राधे-राधे (उत्तरांचल टुरिस्ट गेस्ट हाउस) स्वर्गाश्रम क्षेत्र मे मोक्षदायिनी माँ गंगा के किनारे एक मिनट की पैदल दुरी पर स्थित है । और एक मिनट की पैदल दुरी पर ही हिमालय पर्वत की अद्भुत

व दिव्य अलौकिक शक्तियो से युक्त मणिकुट पर्वत की गोद मे स्थित राजाजी नेशनल पार्क के पास स्थित है ।

होटल श्री राधे-राधे (उत्तराँचल टुरिस्ट गेस्ट हाउस) से 22 किमी. मोटर मार्ग या 14 किमी.पैदल मार्ग की दुरी पर विश्व प्रसिद् शक्ति पीठ नीलकंठ महादेव व पाताल भुवनेश्वरी मंदिर विराजमान है ।

स्वर्गाश्रम एक आध्यात्मिक क्षेत्र है । यह ऋषि-मुनियो की तपोस्थली रही है । यहाँ की भुमि मे दिव्य शक्तियाँ निहित है ।

स्वर्गाश्रम योग व ध्यान की नगरी है । यहाँ पर रहने मात्र से ही मन को अनंत शांति प्राप्त होती है ।

यहाँ के वातावरण मे दिव्य औषधियो की महक विधमान रहती है ।

स्वर्गाश्रम क्षेत्र अपने नाम के अनुरुप स्वर्ग के समान ही है ।

होटल श्री राधे-राधे (उत्तराँचल टुरिस्ट गेस्ट हाउस) की स्थापना सन 1996 मे पुज्य स्व.श्री राधाकिशन अग्रवाल जी द्वारा की गई थी ।